Ram Naam Satya Hai

Ram Naam Satya Hai शव यात्रा में क्यों बोलते | राम नाम सत्य है

Spread the love

इस मृत्यु लोक में जिसने भी जन्म लिया है , उसे एक न एक दिन मरना ही है। लेकिन क्या आप जानते है , की हिन्दू धर्म में जब भी किसी मृत्यु हो जाती है , या शव यात्रा निकली जाती है, तो शव के पीछे चल रहे लोग राम नाम सत्य है बोलते रहते है , क्या आप जानते है की ऐसा क्यों कहा जाता है , अगर नहीं जानते तो अब आप जान जायेंगे इस लेख को पढ़ कर और बताएँगे उस कथा के बारे में जिसका वर्णन महाभारत में है।

Ram Naam Satya Hai
Ram Naam Satya Hai

हिन्दू धर्म ग्रन्थ महाभारत में धर्मराज युधिष्ठिर ने बताया शव यात्रा के दौरान बोले जाने वाले राम नाम सत्य है क्यों बोले जाता है इसी से जुड़े रहस्य

श्लोक

अहन्यहनि भूतानि गछन्ति यंममहदराम ! शेषा विभूतिमिचंती किमास्सच्र्य मत पराम्


अथार्त – जब मृतक के शरीर को श्मशान घाट ले जाते है तो शव के पीछे पीछे चल रहे लोग राम नाम सत्य है बोलते है लेकिन जब मृतक का संस्कार समाप्त हो जाता है , तब वे पंच तंत्र में विलीन हो जाता है , और उसके बाद शव के साथ गए हुए लोग वापस लौटते है तो वह राम नाम को भूल कर अपनी दुनिया में व्यस्त हो जाते है।

श्मशान घाट in English – Graveyard

और उसके बाद मृतक के घर वाले सम्पति के लिए आपस में लड़ने लगते है , तो युधिष्ठिर कहते है की हर आदमी अपने जीवन कल में कभी न कभी किसी न किसी शव यात्रा में जरूर जाता है। और राम नाम सत्य है का ये नारा लगता है। लेकिन श्मशान घाट के बहार आते ही वह इस सत्य को भूल जाता है। हर मनुष्य रोज किसी न किसी के मृत्यु के बारे में सुनता है , फिर भी इस सच्चाई को स्वीकार नहीं करता है। इससे बड़ा आश्चर्य क्या हो सकता है।

मृत्यु एक अटल सत्य है और Ram Naam Satya Hai

धर्म ग्रंथो में बताया गया है , की जिस तरह मृत्यु एक अटल सत्य है , ठीक उसी तरह राम का नाम भी सत्य है , शव यात्रा के दौरान राम नाम सत्य है बोलने का मतलब मृतक को सुलाना नहीं होता है। बल्कि शव के साथ चल रहे सबको ये समझना है की जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी केवल राम नाम ही सत्य है , बाकि सब व्यर्थ है , और ये परम्परा आज से ही नहीं पुरानी कल से चली आ रही है।

अब आप ये सोच रहे होंगे की एक राम का नाम ही क्यों सत्य है , जब राम नाम का जप किया जाता है , तो मृतक को मुक्ति मिलती है। ऐसा कहा जाता है की मृत्यु के समय राम का नाम बोलने से मृतक जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्त हो जाता है। और उसे श्री हरी के चरणों में सदा के लिए स्थान मिल जाता है। इसके आलावा ये भी मन जाता है की राम का नाम जपने से बुरे विचार आने ख़त्म हो जाते है। जिससे मनुष्य बुरे कर्म करना छोड़ देता है।

दुनिया का 10 सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम 

Kya Hotel Main room Book Kar Sakte Hain


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do You Want work from home jobA Genuine Way To Earn Money Online

Don’t miss out this chance to become part of our community,

We Will Guide You on How You Can Earn $10 To $50 Per Day in A Working Method.