love story

Mera Hamsafar love story in hindi

Mera Hamsafar love story in hindi  यह मेरी एक सच्ची लव स्टोरी है. मेरा नाम गौरव है, और मै आपसे कह दूं कि यह मेरी  Mera Hamsafar real love story in hindi है.मैं 2010 में 12वीं क्लास में था.मेरे क्लास में 40 boy and 59 Girls  थीं. उन सभी  Girls  मे से एक लडकी रितु थी, जिससे मुझे प्यार हाे गया.जब मैने उसे पहली बार देखा… ताे देखता ही रह गया.उसका वाे मासूम चेहरा, वाे खूबसूरत आंखें, उसकी वो मुस्कान मैं ताउम्र नहीं भूल सकता.मै उस पर फिदा हाे गया था.हर पल बस उसी के बारे मेसाेचता था.हर जगह मुझे वही दिखाई देती थी. सच ताे यह था कि मैं उसके प्यार में पागल हो गया था.आज मुझे एहसास हो गया था कि प्यार किसे कहते हैं.

 

 Mera Hamsafar real love story in hindi

मैं उससे बात करने, दोस्ती करने की कोशिश करता, पर हिम्मत नहीं जुटा पाता, राज नये -नये प्लान्स बनाता पर हिम्मत नही हाेती.
फिर एक दिन हिन्दी की क्लास थी, सर थाेडा लेट आने वाले थे. सब स्टूडेन्ट्स आपस में बाते कर रहे थे…. मैने रितु की तरफ देखा आैर हिम्मत करके एक स्माइली दी आैर उसने भी स्माइली दी.क्या बताएं दाेस्ताे उस समय मै कितना खुश था.

उसके बाद हम कॉलेज के बाहर मिले.. बाते की… एक दुसरे के बारे मीन जान-पहचान बढ़ी.

आप सभी मेरी Mera Hamsafar real love story in hindi पढ रहे हैं.
उसके बाद हम राज मिलते, बाते करते, हम अच्छे दोस्त बन गये. 19 Jan 2011 काे मैने उसे प्रपाेज किया,उसने कुछ जवाब नहीं दिया, बेाली साेचकर बताती हूं. मेरी बेचैनी बढ गयी थी… मैं पूरी रात साे नही पाया. मैने उसे मैसेज भी किया बट उसने काेई जवाब नहीं दिया. मै यही साेचता रहा कि कही काेई गलती ताे नही हुई ना. अगले दिन मै कॉलेज गया, रितु कही दिखी नही.मै कॉलेज के गार्डन मे उदास बैठा था कि पीछे से आवाज आयी…. ओये पागल…
मैने देखा ताे ओ रितु था आैर उसने मुस्कुराते हुये हां कह दी. वाे मेरे लाइफ की सबसे बड़ी खुशी थी. सबसे बड़ा दिन था.मैने रितु काे गले लगा लिया… मेरे अाखाे से आंसू निकलने लगे, वा खुशी के आंसू थे. सारे स्टूडेन्ट्स हमे घेरकर तालियां बजा रहे थे. वह लम्हा बहुत ही खूबसूरत था.
मुझे मेरा प्यार मिल गया… मेरा हमसफ़र मिल गया. दोस्तों यह मेरी कहानी Mera Hamsafar love story in hindi आपको कैसी लगी, कमेन्ट में अवश्य बताये.  Mera Hamsafar love story in hindi इस तरह की अन्य  कहानी के लिए Manavata se bada koi dharm nahin hota hindi Moral story इस लिंक पर क्लिक करें.

 

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment