Sat. Sep 25th, 2021
    Difference Between Lok Sabha and Rajya Sabha
    Spread the love

    लोकसभा और राज्यसभा में अंतर क्या है | Difference Between Lok Sabha and Rajya Sabha

    lok sabha and rajya sabha
    lok sabha and rajya sabha

    बार-बार सुनाने में आता है की लोकसभा के चुनाव चल रहे है राज्यसभा के चुनाव चल रहे है। संसद दो सदनों से मिल कर बनता है , 1- निचली सदन 2- ऊपरी सदन , निचली सदन को लोकसभा कहा जाता है और ऊपरी सदन को राजयसभा कहा जाता है। लोकसभा से पता चलता है की ये आम जनता की सभा है। यहाँ जनता द्वारा चुने सदस्य जाते है। और जनता से जुड़े समस्याओ पर बात करते है। और राज्यसभा के सदस्य को लोकसभा के सदस्य चुनते है तो राज्य सभा और लोकसभा में क्या अंतर् है।

    Lok Sabha and Rajya Sabha

    लोकसभा | Lok Sabha

    • लोकसभा सदस्य आम जनता द्वारा वयस्क मतदान की प्रक्रिया द्वारा चुने जाते है।
    • लोकसभा के सदस्यों का कार्यकाल या कार्यवर्ष ५ वर्ष का होता है।
    • इसकी सदस्य संख्या संख्या 552 होती है।
    • धन विधेयक को सिर्फ और सिर्फ लोकसभा में प्रस्तुत किया जाता है और यह लोकसभा सदन देश के शासन चलने लिए धन को आवंटित करते है।
    • Cabinet Minister परिषद सामूहिक रूप से लोकसभा के प्रति उत्तरदायी होती है।
    • संविधान के अनुसार लोकसभा के बैठकों की अध्यक्षता हमेसा लोकसभा के अध्यक्ष करते है।
    • इसे निचला सदन या जनता का सदन कहा जाता है।
    • लोकसभा में यदि Cabinet Minister द्वारा प्रस्तुत कोई विधेयक लोकसभा सदन में पारित नहीं हो पाता है, तो लोकसभा के पूरी Cabinet Minister को इस्तीफा देना पड़ता है।
    • भारत के राष्ट्रपति इस सदन में आलंग-भारतीय समुदाय के २ सदस्यों को मनोनीत कर सकते है।
    • लोकसभा का सदस्य बनाने के लिए कम से कम 25 साल होना जरुरी है।

    राज्यसभा | Rajya Sabha

    • इसके सदस्य राज्य विधान सभा के निर्वाचित सदस्यों द्वारा चुने जाते है।
    • राज्यसभा एक स्थायी सदन है राज्यसभा के एक तिहाई सदस्य हर दो साल बाद रिटायर हो जाते है।
    • इसकी सदस्य संख्या संख्या 250 होती है।
    • राज्यसभा को धन विधेयक के मामले में बहुत काम अधिकार प्राप्त है।
    • Cabinet Minister परिषद सामूहिक रूप से ऊपरी सदन के प्रति उत्तरदायी होती है।
    • राज्यसभा के बैठकों की अध्यक्षता उप – राष्टपति करते है।
    • राज्यसभा को ऊपरी सदन या फिर राज्यों का परिषद कहा जाता है।
    • राज्यसभा में यदि Cabinet Minister द्वारा प्रस्तुत कोई विधेयक इस राज्यसभा सदन में पारित नहीं हो पाता है, तो पूरी Cabinet Minister को इस्तीफा नहीं देना पड़ता है।
    • भारत के राष्ट्रपति इस सदन में कला शिक्षा समाजसेवा एवं खेल जैसे छेत्रो से सम्बंधित १२ सदस्यों को मनोनीत कर सकते है।
    • राज्यसभा का सदस्य बनाने के लिए कम से कम 30 साल होना जरुरी है।

    इसे भी पढ़े…

    Kya Hotel Main room Book Kar Sakte Hain

    Dahej Kya Hota Hai | Dahej Ka Arth Kya Hota Hai

    दाखिल ख़ारिज क्या होता है| Dakhil Kharij Kya Hota Hai


    Spread the love

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *