You are currently viewing Kalki Avatar In Hindi | कल्कि अवतार की कथा

Kalki Avatar In Hindi | कल्कि अवतार की कथा

Spread the love

Kalki Avatar हिन्दू धर्म ग्रंथो में इस बात का वर्णन मिलता है की
यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम्॥ इस का मतलब की जब जब धरती पर पाप और अन्याय बढ़ा है तब तब भगवान विष्णु किसी न किसी अवतार में पापियों का विनाश करने के लिए प्रकट हुए है। इसके पहले भगवान विष्णु ने अनेको अवतार ले चुके है। जैसे – वामन अवतार , नरसिंघ अवतार, राम अवतार, मतस्य अवतार, कृष्ण अवतार ये सभी अवतार भगवान विष्णु ने लिया पापियों का विनाश करने के लिए।

Kalki Avatar
Kalki Avatar

Kalki Avatar of vishnu | कल्कि अवतार भविष्य पुराण

हिन्दू धर्म के वेदो और शास्त्रों में विष्णु जी के 10 अवतार का उल्लेख मिलता है। और भगवान विष्णु जी अब तक 9 अवतार ले चुके है, लेकिन 10 वा अवतार भगवान विष्णु का कलयुग में होना अभी बाकि है। शास्त्रों में उल्लेख है की जब कलयुग पाप की चरम सीमा पर होगा तब भगवान विष्णु Kalki Avatar लेंगे और कलयुग का अंत करेंगे और फिर धर्म युग की स्थापना करेंगे, Kalki Avatar आज के सभी लोगो के लिए एक रहस्य है। हर किसी के मन में यही है। की भगवान विष्णु अपना Kalki Avatar कब लेंगे और ये अवतार कहा लेंगे और उनका रूप कैसा होगा, उनका वहां क्या होगा इस सभी सवालों के जवाब भगवत गीता में उल्लेखित है।

भगवतगीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है की जब जब धर्म की हानि हानि होती है, और अधर्म और पाप अपने चरम सिमा पर होता है , तो तब तब धर्म की स्थापना के लिए भगवान अवतार लेते है। श्रीमदभगवत पुराण के 12 वें स्कन्द में लिखा है की भगवान विष्णु का कल्कि अवतार कलयुग के अंत और सतयुग के संधि काल में होगा।

शास्त्रों के हिसाब से भगवान कृष्ण और भगवान राम दोनों लोग का अवतार अपने अपने युगो के अंत में हुआ था। इस लिए कलयुग का अंत जब निकट आजाएगा तब भगवान विष्णु कल्कि का अवतार लेंगे , हिन्दू धर्म में Kalki Avatar से सम्बंधित एक श्लोक उल्लेखित किया गया है। जो ये बताता है की भगवान का Kalki Avatar कब और कहा होगा। और उनकी माता – पिता कौन होंगे।

कल्कि अवतार कहां होगा | kalki avatar birth chart

‘‘ सम्भल ग्राम, मुख्यस्य ब्राह्मणस्य महात्मनः 
 भवने विष्णुयशसः कल्कि प्रादुर्भाविष्यति।।

अथार्त संबल ग्राम में विष्णुयश नामक श्रेष्ठ ब्राह्मण के पुत्र के रूप में भगवान कल्कि का जन्म लेंगे , भगवान कल्कि देवरत नाम के घोड़े पर सवार हो कर अपनी तलवार से दुष्टो का संघार करेंगे , तभी सतयुग प्रारम्भ होगा। भगवान का कल्कि अवतार विश्कलंक के नाम से भी जाना जायेगा। Kalki Avatar में भगवान के माता का मन सुमति होगा, इसके आलावा भगवान कल्कि के उनसे तीन बड़े भाई भी होंगे जिनके नाम – सुमंत , प्राज्ञ और कवि के नाम से जाने जाएंगे।

याज्ञवलक्य जी उनके पुरोहित और भगवान परशुराम उनक गुरु होंगे। भगवान श्री कल्कि की दो पत्निया होंगी – लक्ष्मी रूपी पद्मा और वैष्णवी रूपी रमा , भगवान कल्कि पर चार पुत्र होंगे जय, विजय, मेघमाल तथा बलाहक पुराणों में बताया गया है, की कलयुग के अंत में भगवान विष्णु ये अवतार लेंगे और अधर्मियों का अंतकरके फिर से धर्म का राज्य स्थापित करेंगे।

Ram Naam Satya Hai शव यात्रा में क्यों बोलते | राम नाम सत्य है

दुनिया का 10 सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम 

Kya Hotel Main room Book Kar Sakte Hain

Brahma Kamal | ब्रह्म कमल की विशेषता


Spread the love

Leave a Reply