Mon. Sep 27th, 2021
    Spread the love

    नमस्कार दोस्तों आज मैं आप को हिंदी वर्णमाला के बारे में बताऊंगा की हमारे हिंदी Hindi varnamala में वर्णो की संख्या कितनी है।

    Hindi varnamala | हिंदी वर्णमाला

    हिंदी वर्णमाला दो मुख्य भाग में विभाजित है स्वर और व्यंजन, स्वर और व्यंजन के बीच में आता है अयोगवाह तो मैं आप को स्वर, व्यंजन और अयोगवाह के बीच का अंतर बताऊंगा। और मई आप को ये भी बताऊंगा की मूल स्वर, हशव स्वर, दीर्घ स्वर और संयुक्त स्वर के बारे में।

    Hindi Varnamala chart

    Hindi Varnamala chart
    Hindi Varnamala chart

    हिंदी वर्ण माला में वर्णो की संख्या कितनी होती है

    हिंदी वर्ण माला में वर्णो की कुल संख्या 52 होती है

    हिंदी वर्ण माला को विभाजित करने पे सबसे पहले आता है स्वर
    स्वर में वर्णो की कितनी संख्या आती है।
    स्वर में कुल वर्णो की संख्या 11 होती है

    अ आ इ ई उ ऊ ऋ ए ऐ ओ औ

    Top 5 women entrepreneurship in world Click Here

    Hindi swar | स्वरों के प्रकार

    स्वर कितने प्रकार के होते है
    स्वर तीन प्रकार के होते है। मूल स्वर (हर्षव स्वर), दीर्घ स्वर और संयुक्त स्वर

    मूल स्वर (हर्षव स्वर) में चार वर्ण आते है
    अ , इ, उ,ऋ

    दीर्घ स्वर में कितने वर्ण होते है।
    दीर्घ स्वर में सात वर्ण आते है – आ, ई,ऊ, ए , ऐ ,ओ , औ

    संयुक्त स्वर में कितने वर्ण होते है
    संयुक्त स्वर में चार वर्ण होते है। – ए , ऐ ,ओ ,औ
    सयुक्त वर्ण को जोड़ कर बनाया गया है। संयुक्त वर्ण दो दो वर्णो के जोड़ कर बना है।
    अ + इ = ए
    अ + ए = ऐ
    अ + उ = आ
    अ + ओ = औ

    अयोगवाह क्या होता है
    अयोगवाह वे वर्ण होते है जो न तो स्वर होते है और न व्यंजन होते है।

    अयोगवाह में की वर्ण होते है
    अयोगवाह में वर्ण की संख्या दो होती है – अं ( अनुस्वार ) अ ( विसर्ग )

    Hindi vyanjan | व्यंजन क्या होता है

    क से लेकर ह तक वर्णो को व्यंजन कहा जाता है

    व्यंजन में कितने वर्ण होते है
    व्यंजन में कुल ३३ वर्ण होते है क से लेकर ह तक सभी व्यंजन है।

    व्यंजन को कितने वर्ग में विभाजित किया गया है।

    व्यंजन के क से लेकर म तक के वर्णो को ५ वर्ग में विभाजित किया गया है। और हर वर्ग में ५-५ वर्ण है।
    क वर्ग – क ख ग घ ड़
    च वर्ग – च छ ज झ ञ
    ट वर्ग – ट ठ ड़ ढ़ ण
    त वर्ग – त थ द ध न
    प वर्ग – प फ ब भ म इस तरह से पाँचो वर्गों को मिलकर के 25 है जिनको हम स्पर्श व्यंजन कहते है।

    ट वर्ग के वर्णो को कठोर व्यंजन कहते है

    ट वर्ग में ये जो ड़‘ और ‘ढ़’ वर्ण है जिनको हम उत्क्षिप्त व्यंजन कहते है।

    य र ल व – इनको हम अन्तःस्थ व्यंजन कहते है। और इनको अर्द्ध स्वर भी कहा जाता है। अर्द्ध स्वर इस लिए बोला जाता है क्युकी की इनका निर्माण स्वरों की सहायता से होता है।

    Story of Instagram Success 2021 Click Here

    संस्कृत के हिसाब से य र ल व ये सभी अर्द्ध स्वर है लेकिन अगर हिंदी देवनागरी में सिर्फ य और व ही अर्द्ध स्वर है।

    श ष स ह – इनको हम ऊष्म व्यंजन कहते है।

    श – तालव्य श
    ष – मूल्य धन्य ष
    स – दन्त स और ह यही ऊष्म व्यंजन कहलाते है।

    क्ष, त्र, ज्ञ, श्र – ये सभी व्यंजनों में नहीं आते है। इसको हम संयुक्त व्यंजन कहते है।

    अगर आप को कुल व्यंजनों की संख्या पूछी ( Hindi Varnamala ) जाये तो 37 होंगी।
    और सिर्फ व्यंजनों की संख्या 33 होती है

    Hindi Varnamala chart कैसा लगा comment करके जरूर बताइये।


    Spread the love

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *