finance in hindi फाइनेंस क्या हैं, फाइनेंस के विषय में पूरी जानकारी

फाइनेंस क्या होता हैं? | Finance in Hindi what is finance

Spread the love

फाइनेंस क्या होता हैं? पूरी जानकारी | Finance in Hindi what is finance | फाइनेंस क्या हैं | फाइनेंस क्या होता हैं | what is finance in hindi जब भी हम फाइनेंस का नाम सुनते हैं तो हमे एक ही चीज का ध्यान आता हैं। वो हैं मनी पैसा finance को हिंदी में वित्त, अर्थव्यवस्था, या आमदनी या फिर आय कहते हैं। फाइनेंस में हमे अपना पैसा कब और किस तरह और कहा इन्वेस्ट करना हैं। फाइनेंस एक कला हैं पैसो को मॅनॅग्मेंट करने का , हमारी सम्पति और दाइत्वों का मेल फाइनेंस कहलाता हैं।

खर्च और निवेश future को ध्यान में रख कर हम अपने पैसे की बचत करते हैं , तो उसे भी फाइनेंस मॅनॅग्मेंट कहलाता हैं। फाइनेंस वह प्रक्रिया हैं , जहा हम तय करते हैं की पैसे को किस तरह से और कब कैसे लगाया जाए जिससे कंपनी की ग्रोथ अच्छी हो सके । आज के समय में अच्छी जिंदगी गुजरने के लिए आप के पास पैसे होने जरुरी हैं। और पैसे मैनेज करने का सबका अलग तरीका होता हैं। जो हर किसी से लग होता हैं। हर कोई पैसे अपने अपने तरिके से कमाते हैं और अपने अपने तरिके खर्च करते हैं और बचते भी हैं।

Finance in Hindi what is finance

कई लोग पैसे की बचत करने में काफी अच्छे होते हैं , और की लोग बहुत कम और कई लोग पैसे को अच्छे से बचत करते ही है और कही अच्छी जगह निवेश करके अपने जीवन में आगे बढ़ते हैं। ज्यादा लोग पैसे को अच्छे से मैनेज नहीं कर पाते हैं। और ऐसे लोगो के पास पैसे की कमी हमेशा बनी रहती हैं। हर किसी के पास पैसा आता हैं , और सभी लोग खर्च भी करते हैं। और सबका यही कहना हैं की पैसे आते तो हैं लेकिन टिकता नहीं हैं। पैसा कामना अलग बात और पैसे को बचा के रखना बहुत अलग बात हैं। बहुत से लोग होते हैं जो पैसे बहुत कमाते हैं , लेकिन वो लोग पैसे को उस तरह बचत नहीं कर पाते हैं।

Types of finance – फाइनेंस के तीन प्रकार हैं –

१- पर्सनल फाइनेंस personal finance
२- पब्लिक फाइनेंस public finance
३- कॉर्पोरेट फाइनेंस corporate finance

gold loan vs personal loan India | gold loan vs personal loan me antar

पर्सनल फाइनेंस personal finance

आप अपने आस पास के लोगो को देखने होने की उनके पास कही से बहुत ज्यादा पैसा आता तो हैं लेकिन वह कुछ दिन में अपनी पुरानी हालत में पहुचत जाते हैं। आप के पास कितना भी पैसा हो अगर आप पैसे को अच्छी तरह मैनेज करना नहीं जानते तो आप के पास पैसे कही नहीं टिकने वाले और पैसे को कैसे मैनेज किया जाए या संभाला जाए इसी का विषय है

personal finance , How to manage money = personal finance पर्सनल Finance in Hindi को हिंदी में व्यक्तिगत धन प्रबंधन कहते हैं। पर्सनल फाइनेंस ऐसा विषय हैं , जहा पैसे को सँभालने के साथ कमाई और खर्च का संतुलन बना के रखना और अपने पैसे का कितने बेहतर तरिके से उपयोग करना हैं इसे हम पर्सनल फाइनेंस कहते हैं। अपने पैसो को कितने तरीके से और कितने बेहतर तरिके से पैसो को मैनेज किया जाए उसे हम पर्सनल फाइनेंस कहते हैं। list of Indian banks | Indian bank list

पब्लिक फाइनेंस public finance

पब्लिक का मतलब आवाम या जनता या फिर लोग होते हैं जिन्हे हम पब्लिक कहते हैं , और finance पैसे की बचत को फाइनेंस कहते हैं। पब्लिक फाइनेंस का वर्ड सरकार के टर्म से इस्तेमाल किया गया हैं। लोगो के पॉइंट ऑफ़ व्यू से नहीं इस्तेमाल किया गया हैं। पब्लिक फाइनेंस में सर्कार लोगो के विषय में लोगो के डेवलपिंग के बारे में प्लानिंग करती हैं। जैसे – सड़को को बनाने की प्लानिंग और हॉस्पिटल बनाने की प्लानिंग , स्कूल बनाने की सेना को स्ट्रांग रखने की प्लानिंग को ही पब्लिक Finance in Hindi कहते हैं।

कॉर्पोरेट फाइनेंस corporate finance

कॉर्पोरेट फाइनेंस को बेसुनीसे फाइनेंस भी कहते हैं , कॉर्पोरेट फाइनेंस में कॉर्पोरेट को फाइनेंस व्यवस्थित करना होता हैं। कॉर्पोरेट फाइनेंस ये स्ट्रक्चर की देख रेख करता हैं और निर्णय लेने में भी मदद करता हैं। की capital को कहा इन्वेस्ट करना चाहिए। Impotence of corporate finance १- help in decision Making, २- Expansion and diversification Full Form of NBFCs | NBFCs Kya Hota Hain Gold Loan Kya Hota Hain | गोल्ड लोन क्या होता हैं


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do You Want work from home jobA Genuine Way To Earn Money Online

Don’t miss out this chance to become part of our community,

We Will Guide You on How You Can Earn $10 To $50 Per Day in A Working Method.