Bharatiya Tyohar

छठ पूजा का त्यौहार

 छठ पूजा का त्यौहार  यह त्यौहार विशेषकर भारत के बिहार राज्य में मनाया जाता है, लेकिन अब यह उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश और झारखण्ड आदि के कुछ हिस्सों में भी मनाया जाने लगा है. इसके अलावा इस त्यौहार की पहुँच वहाँ तक है जहां जहां बिहार के लोग रहते  हैं. यह दिल्ली, मुंबई, कोलकाता तथा देश के अन्य भागों में भी मनाया जाता है. इन सबके अतिरिक्त विदेशों में बसे बिहार के लोह इसे विदेशों में भी मनाते हैं. यह बिहार का प्रमुख त्यौहार होने के साथ ही वहाँ की सस्कृति का एक हिस्सा भी हो चुका है.

छठ पूजा का त्यौहार

छठ पूजा का त्यौहार

 छठ पूजा का त्यौहार

 

हिन्दू कैलेण्डर के अनुसार यह पर्व हर साल कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाता है. इस त्यौहार में भगवान सूर्य देव और छठ मां की पूजा किया जाता है. इस त्यौहार को मनाने के लिए भारत के अन्य शहरों में अपनी रोजी रोटी के लिए  गए बिहार के लोग बिहार की तरफ वापस लौटते हैं और इस क्रम में ट्रेनों आदि में बहुत भारी भीड़ रहती है.

 

छठ पूजा का त्यौहार

छठ पूजा का त्यौहार

छठ पूजा की शुरुवात नहाय खाय से शुरू होती है और दुसरे तथा इशारे दिन निर्जला उपवास रखा जाता है अर्थात इस दौरान जल भी ग्रहण नहीं किया जाता है . तीसरे दिन के संध्या समय और उसकी अगली सुबह को पवित्र नदी, तालाव में खड़े होकर भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है. कई जगहों पर इसके लिए क्रितिम तालाव का निर्माण किया जाता है. आज के समय में इस त्यौहार पर भी राजनितिक पार्टियों का कब्जा हो गया है, इसमें उनके द्वारा अपनी ताक़त का प्रदर्शन किया जाता है. कुछ समाजसेवी संस्थाए भी इस त्यौहार को सफल बनाने में अपना बहुमूल्य योगदान देती हैं. कहा जाता है कि छठ मैया अपने भक्तों की प्रत्येक मनोकामना को पूरा कराती हैं. यह एक मात्र त्यौहार है जिसमें डूबते हुए सूर्य की उपासना की जाती है. मित्रों मेरी यह पोस्ट छठ पूजा का त्यौहार  आपको कैसी लगी कमेन्ट मीन बताएं और भी अन्य जानकारी के लिए इस ब्लॉग को सबस्क्राइब कर लें और अन्य पोस्ट को पढ़ने के लिए इस लिंक रैकेट hindi Moral Story  पर क्लिक करें.

 

 

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment